अपने और नेताजी के लिए किराए का घर ढूंढ रहे हैं, मिलते ही चले जाएंगे: अखिलेश यादव

लखनऊ
समाजवादी पार्टी के मुखिया और यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश ने एक निजी टीवी चैनल को दिए गए इंटरव्यू में कहा है कि वह अपने और नेताजी (मुलायम सिंह यादव) के लिए घर ढूंढ रहे हैं। अखिलेश ने कहा कि वह लखनऊ में किराए का मकान ढूंढ रहे हैं और घर मिलते ही बंगला खाली कर देंगे, ऐसे में उन्हें दो साल नहीं को कम से कम एक साल का वक्त दिया जाना चाहिए।

गौरतलब है कि सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद उत्तर प्रदेश राज्य संपत्ति विभाग ने यूपी के छह पूर्व मुख्यमंत्रियों को 15 दिन के भीतर सरकारी बंगला खाली करने का नोटिस जारी किया है। इसी पर अखिलेश यादव ने कहा, ‘मैं जिद नहीं करता हूं, सिर्फ वक्त मांगा है। हमारी गलती है कि अपना घर नहीं बनवा पाए। दो साल नहीं तो एक साल का ही वक्त दे दें। अपने और नेताजी के लिए लखनऊ में घर ढूंढ रहा हूं, घर मिलते ही हम चले जाएंगे।’

‘मुझे प्रधानमंत्री नहीं बनना’
बुधवार को कर्नाटक में कुमारस्वामी के शपथग्रहण में शामिल होने जा रहे अखिलेश ने विपक्षी एकता के सवाल पर कहा कि यह सब चुनाव के बाद की बात है। अखिलेश बोले, ‘एचडी देवगौड़ा जी ने नेताजी के साथ काम किया है, पुराना रिश्ता है। कुमारस्वामी जी को बधाई देने जा रहा हूं, इससे यह नहीं सोचना चाहिए कि कोई राजनीतिक मंच तैयार हो रहा है। मेरा लक्ष्य यूपी में ज्यादा से ज्यादा सीटें जीतने का है प्रधानमंत्री बनने का नहीं।’

बीजेपी सरकार पर साधा निशाना
अखिलेश ने बीजेपी की केंद्र सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि पांच बजट निकल गए लेकिन जनता को कुछ नहीं मिला। उन्होंने कहा, ‘सबसे ज्यादा जनधन खाते एसपी सरकार में खुले थे लेकिन जनधन खातों से गरीब को लाभ नहीं हुआ। किसानों को कर्जमाफी में कोई फायदा नहीं पहुंचा। महोबा में 40 किसानों ने कर्जमाफी के चलते आत्महत्या कर ली।’

‘नौजवान-किसान परेशान हैं’
अखिलेश ने कहा कि लोग बीजेपी सरकार से परेशान हैं और इसी का नतीजा गोरखपुर और फूलपुर में दिख गया। यादव बोले, ‘प्रदेश में किसान परेशान हैं, नौजवानों को रोजगार नहीं मिल रहा है। वाराणसी में लोग पुल गिरने से मर गए, सीतापुर में सरकार बच्चों को कुत्तों से नहीं बचा पा रही है। गोरखपुर में ऑक्सिजन नहीं मिलने से बच्चे मर गए।’

Leave a comment

XHTML: You can use these html tags: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <s> <strike> <strong>

Loading...