स्वस्छ भारत मिशन को पलीता लगते ग्राम प्रधा न ।ग्रामीण लाख शिकायत करे अधिकारी बने हुए है अनजान ।।

मुरादाबाद शासन लाख योजनाये बनाकर ग्रामीणो के जीवन स्तर को सुधारने का प्रयास करे लेकिन ये योजनाये ग्रामो में पहुचते पहुचते कागजो में ही सिमट कर पूरी हो जाती है ।और जब ग्रामवासी इन योजनाओं से सम्बंधित शिकायते अधिकारियों से करते है ।तो जांच करने वाली टीमें ग्राम प्रधान के यहाँ बैठकर शानदार नास्ते के साथ जेबो में मोटी रकम लेकर अपनी रिपोर्टो में की गयी शिकायतों को निराधार बताते हुये अपनी जांच रिपोर्टो को आला अधिकारियों को भेज देते है ।और शिकायतकर्ताओं को मिलता है सिर्फ और सिर्फ आस्वासन ।
ऐसा ही एक मामला छजलैट ब्लॉक के ग्राम नसीर पुर का सामने आया है ।जहाँ पर शासन की योजनाओं का ग्रामप्रधान दयाराम द्वारा ब्लॉक के अधिकारियों की मिलीभगत से खुले आम पलीता लगाया जा रहा है ।
वर्तमान में इस ग्राम के रास्तो की हालत इतनी दयनीय बनी हुई कि की ग्रामवासियों का ये से निकल कर जाना दुशवार हो रहा है ।तो दूसरी और ग्राम को खुले में शौच मुक्त अभियान के तहत बने शौचालयों में प्रधान द्वारा बहुत गड़बड़ी की जा रही है ।जिनके शोचालय बने उनमे शीटें ही नही लगी व और न मानक के अनुरूप गड्ढे बने हुए है ।व अधिकांश ग्रामीणों को शौचालयों के निर्माण के लिये मिलने वाली राशि को भी अपने पुत्र की मदद से डकार गया ।ग्रामीणों ने की बार अपनी लिखित शिकायते तहसील स्तर से लेकर मुख्य मंत्री जी से कर चुके है लेकिन जाँच के नाम पर ग्राम पहुचे अधिकारी प्रधान के बैठकर अपनी जेबें गर्म करके चले जाते है ।और इनको योजनाओ का लाभ तो नही लेकिन अधिकारी से आश्वासन खूब मिलता है ।आखिर ये कहा जाये जिससे ग्राम प्रधान के घोटालों की जांच हो कर इन को सरकार द्वारा मिलने वाली योजनाओ का लाभ मिले ।

Loading...