बॉल टेंपरिंग : स्टीव स्मिथ ने माफी मांगी, फूट-फूट कर रोए

 

ऑस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान स्टीव स्मिथ बॉल टेपरिंग विवाद में अपनी कप्तानी गंवाने और एक साल का प्रतिबंध लगने के बाद गुरुवार को पहली बार प्रेस के सामने आए. स्मिथ की आंखों में आंसू थे. सिडनी में पत्रकारों से बात करते हुए स्मिथ ने इस पूरे विवाद पर माफी मांगी. स्मिथ ने कहा कि ऑस्ट्रेलियाई टीम का कप्तान होने के नाते मैं इस पूरे विवाद की जिम्मेदारी लेता हूं और अपने किए पर मांफी मांगता हूं. इस दौरान स्मिथ कई बार रो पड़े और रोते हुए ही उन्होंने संवाददाताओं को अलविदा कहा.

I am sorry. Want to make it clear that as captain of the Australia Cricket team I take full responsibility. I made a serious error of judgment and I now understand the consequences: Steve Smith in Sydney pic.twitter.com/0w1LTSDNYl

ANI

@ANI

I am sorry. Want to make it clear that as captain of the Australia Cricket team I take full responsibility. I made a serious error of judgment and I now understand the consequences: Steve Smith in Sydney

स्मिथ ने कहा, ‘अच्छे लोग भी गलती करते हैं. मैंने भी बड़ी गलती की है कि मैंने ये सब होने दिया. मैंने अपनी तरफ से फैसले लेने में गलती की. मैं शर्मिदा हूं और दिल से माफी मांगता हूं. उम्मीद है कि मैं इस नुकसान की भरपाई कर पाऊंगा.” स्मिथ ने कहा, ‘मेरी जानकारी में यह पहली बार हुआ है. मैं आपको इस बात से आश्वस्त कर सकता हूं कि यह दोबारा नहीं होगा. मैं किसी पर दोष नहीं मढ़ना चाहता. मैं ऑस्ट्रेलियाई टीम का कप्तान था, इसलिए जो कुछ हुआ उसकी जिम्मेदारी मेरी है.’

स्मिथ ने कहा, ‘ मैं दिल से शर्मिदा हूं. मैं क्रिकेट को प्यार करता हूं. मैं युवा खिलाड़ियों को इस खेल के लिए प्रेरित करना चाहता हूं. मैं चाहता हूं कि बच्चे इस खेल को खेलें. यह घटना बुहत दुख देने वाली है, काफी तकलीफ देती है. मैंने ऑस्ट्रेलियाई प्रशंसकों को जो दर्द दिया उसके लिए मांफी मांगता हूं. अपने देश के लिए खेलना सम्मान की बात है. जिस पर मुझे गर्व है. क्रिकेट मेरी जिंदगी है और उम्मीद है कि मैं वापसी करूंगा.’

 

साउथ अफ्रीका और ऑस्ट्रेलिया के बीच न्यू लैंड्स में खेले गए सीरीज के तीसरे टेस्ट मैच में फील्डिंग के दौरान ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाज कैमरन बैनक्रॉफ्ट गेंद से छेड़छाड़ करते हुए कैमरे में कैद हो गए थे. इसके बाद प्रेस कांफ्रेंस में स्मिथ ने माना था कि बॉल टेंपरिंग उनकी टीम की रणनीति का हिस्सा था. इसके बाद क्रिकेट जगत में स्मिथ और ऑस्ट्रेलियाई टीम की खूब किरकरी हुई थी. ऑस्ट्रेलियाई प्रधानमंत्री ने भी इस घटना पर दुख जताया था. इसके बाद क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया ने स्मिथ और उपकप्तान डेविड वॉर्नर को एक वर्ष के लिए प्रतिबंध कर दिया गया था और बैनक्रॉफ्ट पर नौ महीने का का प्रतिबंध लगाया था. इसके साथ ही वह इस साल इंडियन प्रीमियर लीग (आइपीएल) में भी नहीं खेल पाएंगे.

ANI

@ANI

I will do everything I can do to make up for my mistake and the damage it has caused. If any good can come of this, it can be a lesson to others, and I hope can be a cause for change: Steve Smith in Sydney

About the Author

Leave a comment

You must be Logged in to post comment.