Published On: Fri, Mar 30th, 2018

बहुत लोग देशहित में बोलना चाहते हैं, पर मन की बात पर किसी और का राइट है

नरसिंहपुर (जबलपुर).मोदी सरकार की नीतियों और भाजपा आलाकमान के खिलाफ लगातार बयानबाजी कर रहे मशहूर फिल्म अभिनेता और सांसद शत्रुघ्न सिन्हा रविवार रात को नरसिंहपुर में चल रहे किसान आंदोलन में शामिल होने पहुंच गए। यहां पूर्व वित्त मंत्री यशवंत सिन्हा पिछले चार दिन से धरने पर बैठे हुए हैं। शत्रुघ्न ने इशारों में प्रधानमंत्री मोदी पर निशाना साधते हुए कहा कि बहुत से लोग देशहित में बोलना चाहते हैं, पर यहां मन की बात करने का राइट किसी और के पास है। ऐसे लोगों के लिए राष्ट्र मंच का गठन किया गया है। जो सरकार को चेताने का काम करेगा। मन की बात का बहुत प्रचार और प्रपोगंडा हो रहा है। मैं दिल की बात करता हूं। चुनाव के पहले बड़े दावे होते है। बाद में उन पर अमल तो दूर चर्चा भी नहीं होती। ऐसी स्थितियों का सामना आज देश कर रहा है। राष्ट्र मंच द्वारा 23 फरवरी को दिल्ली में किसानों का वृहद आंदोलन किया जाएगा।

चौथे दिन भी धरना जारी

 उधर नरसिंहपुर कलेक्टोरेट के सामने यशवंत सिन्हा समेत प्रदेशभर से आए कई संगठनों के किसान चौथे दिन भी धरने पर बैठे रहे। यहां एनटीपीसी के गाडरवारा प्लांट के लिए जमीन देने वाले किसानों को रोजगार की मांग करने पर 10 दिन पहले गिरफ्तार कर उन पर कई केस दर्ज किए गए थे। इन केस को वापस लेने की मांग को लेकर यशवंत सिन्हा समेत सैकड़ों किसान राष्ट्रीय किसान मजदूर संघ के नेतृत्व में धरना दे रहे हैं।

बाबुल सुप्रियो के तीन तलाक के बयान पर बोले- कौन बाबुल….खामोश

– जबलपुर में जब शत्रुघ्न से भाजपा नेता बाबुल सुप्रियो के बयान के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा कि कौन बाबुल सुप्रियो? मैं उन्हें नहीं जानता। इसके बाद वे खामोश शब्त बोलते हुए वहां से चले गए। उल्लेखनीय है कि राजस्थान उपचुनावों में भाजपा की हार के बाद शत्रुघ्न ने पार्टी नेतृत्व पर निशाना साधा था। इसके बाद बाबुल ने बयान देते हुए कहा था कि शत्रुघ्न तीन बार तलाक कहकर पार्टी क्यों नहीं छोड़ देते। केंद्र सरकार के हालिया वित्त बजट पर तंज कसते हुए सिन्हा ने कहा कि सरकार को 2018 की नहीं 2022 की चिंता है। बजट में घोषित स्वाथ्य बीमा योजना छलावा है।

About the Author

-

Leave a comment

XHTML: You can use these html tags: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <s> <strike> <strong>