जिलाधिकारी की अध्यक्षता में सम्पूर्ण समा धान दिवस तहसील कांठ में संपन्न

सभी अधिकारी जनषिकायतों का निस्तारण गुणवत्तापूर्वक करें- डी0एम0

मुरादाबाद 04 दिसम्बर 2018
जिलाधिकारी श्री राकेष कुमार सिंह की अध्यक्षता में आज सम्पूर्ण समाधान दिवस का आयोजन सदर तहसील कांठ में किया गया, जिसमें जिलाधिकारी ने षिकायतों को गम्भीरता पूर्वक सुनते हुए संबंधित अधिकारियों को समय सीमा में गुणवत्ता पूर्ण निस्तारण करने के निर्देष दिये। जिलाधिकारी श्री सिंह को सम्पूर्ण समाधान दिवस में विभिन्न विभागों से 159 षिकायतें प्राप्त हुईं, जिसमें जिलाधिकारी द्वारा 15 से अधिक षिकायतों का मौके पर ही निस्तारण कर दिया गया तथा अन्य षिकायतों में गम्भीरतापूर्वक निस्तारण करने के अधिकारियों को निर्देष देते हुए कहा कि जनषिकायतों के स्थलीय व त्वरित निराकरण पर बल दिया जाये। जिलाधिकारी ने कहा कि मेरी उपस्थिति में आयोजित तहसील दिवसों में आईं षिकायतों की मानीटरिंग मेरे द्वारा स्वयं की जाती है इसलिए अधिकारी अपने से संबंधित षिकायत को 7 दिन के अन्दर गुणवत्ता पूर्ण निस्तारण करना सुनिष्चित करें।
जिलाधिकारी श्री सिंह ने सम्पूर्ण समाधान दिवस में पूर्ति विभाग, वन विभाग, सिंचाई विभाग, चकबंदी विभाग, पुलिस विभाग, विद्युत विभाग, राजस्व विभाग, समाज कल्याण विभागों तथा विभिन्न विभागों की षिकायतें सुनी, जिसमें उन्होंने सभी संबंधित अधिकारियों को निर्देषित करते हुूए कहा कि किसी भी षिकायत को विभाग अधिक समय तक लम्बित न रखें इसको सभी अधिकारी सुनिष्चित कर लें।
जिलाधिकारी ने कई मामलों में तहसीलदार एवं लेखपाल तथा पुलिस टीम को मौके पर पहंुचकर जांच रिपोर्ट उपलब्ध कराने के निर्देष दिये हैं। सम्पूर्ण समाधान दिवस में विद्युत विभाग से संबंधित बिजली न आने, जर्जर तारों के लटके होने तथा उपभोक्ताओं के ज्यादा धनराषि के बिल प्राप्त होने की षिकायतें प्राप्त होने पर जिलाधिकारी ने अधिषासी अभियन्ता विद्युत को तत्काल षिकायत निस्तारण के निर्देष दिये। चकबंदी के कार्यो की षिकायतों में जिलाधिकारी ने उपजिलाधिकारी कांठ को टीम बनाकर कार्यवाही सुनिष्चित करने के निर्देष दिये हैं। तहसील दिवस में राषन न मिलने तथा राषन कार्ड न बनने की षिकायत के मामले में जिलाधिकारी ने पूर्ति अधिकारी तथा पूर्ति निरीक्षक को जांच कर आवष्यक कार्यवाही करने के निर्देष दिये हैं। उन्होंने कहा कि राषन डीलर द्वारा राषन का वितरण नियमानुसार नहीं किया जाता है तो उसके खिलाफ कार्यवाही सुनिष्चित की जाये। विरासत दर्ज न करने के मामले में जिलाधिकारी ने तहसीलदार को तीन दिन के अन्दर-अन्दर विरासत दर्ज करने के निर्देष दिये हैं। झगडे के मामलेे में संबंधित एस0एच0ओ0 को जिला अधिकारी ने दोनों पक्षों को बैठाकर 7 दिन के अन्दर निस्तारण करने के निर्देष दिये हैं। उन्होंने कहा कि सभी अधिकारी अपने अधीनस्थों के साथ बैठक कर लम्बित प्रकरणों का निस्तारण समय पर करवा लें।
जिलाधिकारी श्री सिंह ने कहा कि सभी अधिकारी जनता से सौम्य स्वभाव से बात करें और आने वाली षिकायतों को गंभीरता से सुने और उसके निस्तारण की समयावधि भी बताते हुए षिकायत कर्ता को संतोषजनक जबाव देना सुनिष्चित करें।

इस अवसर पर मुख्य चिकित्साधिकारी डा0 विनीता अग्निहोत्री, विधायक कांठ राजेष कुमार, उपजिलाधिकारी, तहसीलदार, जिला विकास अधिकारी, जिला विद्यालय निरीक्षक, डी0पी0आर0ओ, परियोजना अधिकारी, पी0डी0 मनरेगा, सहित विकास, राजस्व, विद्युत, खाद्य एवं रसद एवं अन्य सभी विभागों के संबंधित जिला स्तरीय अधिकारी मौजूद रहें।

Loading...