घर का भेदी लंका ढाए,मनप्रीत बादल ने उगला बादलों खिलाफ जहर,खोले कई राज

 

चंडीगढ़ः रामायण के युग से चली आ रही कहावत कि घर का भेदी लंका ढाए आज भी प्रचलित है। पंजाब विधानसभा के अंतिम दिन ये कहावत उस समय सच होती दिखाई दी जब कभी अकाली दल में रहे पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री  प्रकाश सिंह बादल के भतीजे मनप्रीत सिंह बादल ने बादलों के खिलाफ कई राज खोले।  इतना ही नहीं मनप्रीत ने  सुखबीर सिंह बादल और बिक्रम सिंह मजीठिया पर जमकर कटाक्ष किए। वित्तमंत्री ने कहा कि जो लोग कभी अपनी बहन की शादी पर किस्त पर गाड़ी लेकर देते थे। आज वह लोग करोड़ों की गाड़ियों पर घूम रहे हैं। इस पर शिरोमणि अकाली दल के विधायकों ने नारेबाजी शुरू कर दी। वित्‍तमंत्री बजट पर चर्चा का जवाब दे रहे थे। मनप्रीत बादल ने पूरे 8 दिन चले सत्र दौरान अकाली दल द्वारा लगाए गए आरोपों का जवाब दिया। मनप्रीत बादल ने कहा, हमारे परिवार में विवाहित विक्रम मजीठिया की बहन को दी गई गाड़ी भी इन्होंने किस्तों पर ले कर दी।

 

इतना ही नहीं उन्होंने प्रकाश सिंह बादल की पत्नी तथा अपनी ताई  पर बोलते कहा कि जब उनका निधन हुआ तो भोग पर लंगर एसजीपीसी ने लगाए। वित्त मंत्री ने पूर्व उपमुख्यमंत्री सुखबीर बादल पर हमला करते हुए कहा कि जिन लोगों ने पंजाब को लूटा, वे आज मेरे ऊपर उंगली उठा रहे हैं। मनप्रीत ने कहा कि गुड़गांव में 17 किल्ले जमीन पर सात सितारा होटल बनाया गया। सवाल है कि यह जमीन चौधरी देवीलाल ने बादल परिवार को क्यों दी। यह जमीन एसवाईएल पर समझौते के कारण दी गई।

 

मनप्रीत को खजाना विभाग चलाना नहीं आता के आरोपों बारे कहा, हां सही है, मुझे कई काम नहीं आता। मनप्रीत बेहद आक्रामक अंदाज में बोले, मुझे बसें चलानी नहीं आती है, मुझे होटल चलाना नहीं आता, मुझे चिट्टा बेचना नहीं आता और मुझे पंजाब का खजाना लूटना भी नहीं आता है। मनप्रीत की बात सुनते ही अकालियों ने नारेबाजी शुरु कर दी,जब वे सदन से जानें लगे तो मनप्रीत बादल ने उन्हें चुनौती दी कि अगर वे मर्द के बच्चे हैं तो मेरी बात सुनकर जाएं। मनप्रीत बादल ने कहा, जब मेरी ताई को कैंसर हुआ तो उसका खर्च पंजाब सरकार ने उठाया। यही नहीं 2017 में चुनाव परिणाम अभी आए नहीं थे कि तत्‍कालीन मुख्यमंत्री अमरीका में अपने हार्ट का इलाज करवाने के लिए गए। इसका खर्च भी पंजाब सरकार को ही उठाना पड़ा। इस बीच हंगामा बढ़ता देख स्पीकर ने सदन को 20 मिनट के लिए स्थगित कर दिया

About the Author

Leave a comment

You must be Logged in to post comment.